मनीष/जमुई: बिहार के झाझा रेलवे लाइन के कटौना हॉल्ट के समीप रेलवे पटरी पर एक युवती व एक युवक का क्षत-विक्षत शव मिला. शव की पहचान टाउन थानाक्षेत्र के लठाने गांव निवासी मामा-भांजी के रूप में हुई. हालांकि पुलिस ने इस मामले में प्रेस प्रसंग में आत्महत्या की बात बताई है, लेकिन शव को देखकर ऐसा लगता है कि दोनो की हत्या हुई है.

युवक का गर्दन जिस तरह से कटा है वह ट्रेन से कटा नहीं लगता, और शरीर का जो भाग रेलवे पटरी पर है वह सही सलामत है. युवती का भी वही हाल है, शरीर पटरी पर सही सलामत पड़ा है लेकिन गर्दन कटा हुआ है.

बता दें कि मंगलवार की सुबह जमुई रेलवे पुलिस को सूचना मिली की जमुई-झाझा रेलखंड के कटौना जोगी-जखराज हाल्ट के पोल संख्या 387/ 5 के समीप एक युवक और युवती का शव क्षत-विक्षत हालत में पड़ा हुआ है। सूचना के बाद रेलवे तथा मलयपुर थाने की पुलिस मौके पर पहुंचकर शव को अपने कब्जे में लिया और पूरे मामले की जांच शुरू कर दी.

प्रेमी जोड़े की पहचान सदर थाना क्षेत्र के लठाने गांव निवासी उमेश तांती का 22 वर्षीय पुत्र गोविंद तांती के रूप में की गई. जबकि युवती की पहचान लक्ष्मी तांती की 21 वर्षीय पुत्री जुली कुमारी के रूप में की गई है. दोनों प्रेमी युगल बताए जा रहे है. मौके पर पहुंचे मलयपुर थाना अध्यक्ष विजय कुमार, एसआई भगवान ठाकुर, एएसआई कैलाश पासवान, मलयपुर थाना की पुलिस शव को अपने कब्जे में लेकर पूरे मामले की हर दिशा से जांच शुरू कर दी है.

घटनास्थल पर जांच के लिए पहुंचे जमुई एसडीपीओ डॉक्टर राकेश कुमार, झाझा रेल डीएसपी, जमुई जीआरपी इंस्पेक्टर अशोक साह, झाझा जीआरपी इंस्पेक्टर अनिल कुमार पहुंचे. परिजनों का कहना है कि दोनों रिश्ते में मामा भांजी थे और आपस में दोनों के बीच प्रेम प्रसंग चल रहा था जिस कारण परिजन इसका विरोध कर रहे थे. परिजनों के विरोध के कारण दोनों ने ट्रेन से कूदकर अपनी जान दे दी.

Leave a Reply